21 दिन 6 गोल्ड, भारत ने रचा इतिहास

KhabareRojana

खेल जगत में आज भारत का बहुत बड़ा नाम है और आये दिन हमारी इस धरती पर कोई न कोई ऐसा पैदा होता है जो इस देश का नाम रोशन करता है। आईये जानते है ऐसी ही एक एथलीट के बारे में जिसने कुछ दिनों पहले पूरी दुनिया में भारत का नाम रोशन किया है।

एक छोटे से गाँव की रहने वाली एथलीट 18 वर्षीय हिमा दास ने चेक गणराज्य में आयोजित प्रतिस्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर भारत का नाम रोशन किया है। 21 दिन के अंदर छह स्वर्ण पदक जीतकर उसने इतिहास बना दिया है।

हिमा दास के करीबी दोस्त के अनुसार-

“हिमा अपने लक्ष्य को लेकर बहुत सजग रहती है। हिमा का लक्ष्य मेडल हासिल करना नही था बल्कि अपने प्रदर्शन को श्रेष्ठ दिखाना था। इसी सोच को लेकर वो मेहनत करती गई और प्रतियोगिता में भागने की टाइमिंग बेहतर करने में ज्यादा ध्यान देती थी। बस इसी क्रम में उसे मेडल मिलते रहे और अंत में भारत की श्रेष्ठ एथलीट बन गयी। पलाश के अनुसार, हिमा हमेशा कूल रहती है, और सबको प्रोत्साहित करती रहती हैं। हिमा अपने छह दोस्तों में हिमा अकेली लड़की हैं, जिन्हें बाइक चलाने का शौक है। वह हरदम दोस्तों की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहती हैं।

जब मदद की हम बात करते है तो हिमा ने असम बाढ़ पीडि़तों को अपनी पुरस्कार राशि का एक बड़ा हिस्सा दान कर दिया है। जब भी वॉट्सऐप पर दोस्तों से बात होती है, वह पहला सवाल असम में बाढ़ की हालात के बारे में पूछती हैं।

18 वर्षीय किशोरी आज अपने प्रदर्शनों के कारण अपने हम उम्र एथलीटों की प्रेरणा बन गई हैं। पहले उसने जकार्ता एशियन गेम्स में रजत पदक जीता था, लेकिन इस साल चेक गणराज्य में हुए प्रतिस्पर्धा में 21 दिन के अंदर 6 स्वर्ण पदक जीतकर भारत का नाम गौरवान्वित कर दिया है। इस प्रतियोगिता के दौरान हिमा ने 400 मीटर की दौड़ में 51.46 सेकंड के समय में स्वर्ण पदक जीता है और वह ये स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बन गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here